Black Fungus in Delhi: ब्लैक-फंगस की दवा किसे मिले व किसे नही, इस पर कठोर निर्णय ले सरकारः हाई कोर्ट

नईदिल्ली,जागरणसंवाददाता।ब्लैक-फंगसकीदवाएंफोटेरिसिन-बीकीकमीकोदेखतेहुएदिल्लीहाईकोर्टनेदवाकिसेदीजाए,इसकाचयनकरनेकाक्रूरनिर्णयलेनेकासुझावदियाहै।न्यायमूर्तिविपिनसांघीवन्यायमूर्तिजसमीतसिंहकीपीठनेकहाकिवैसेतोहमवसुधैवकुटुंबकमकीप्रथाकापालनकरतेहुएपूरेविश्वकोएकपरिवारमानतेहैं,लेकिनयदिपरिवारमेंदोमरीजहैं।इनमेंभीएकबुजुर्गऔरएकयुवाहैऔरआपकेपासएकहीदवाहैतोआपकोदवादेनेकेलिएइनमेंसेकिसीएकसदस्यकोचुननेकाकठोरनिर्णयलेनाहोताहै।पीठनेइनटिप्पणियोंकेसाथदवाकेवितरणकोलेकरकेंद्रवदिल्लीसरकारकोएकस्पष्टनीतितैयारकरनेकानिर्देशदिया।साथहीकहाकिइससंबंधमेंमंगलवारकोअदालतकोअवगतकराएं।

पीठनेउदाहरणदेतेहुएकहाकिअगरदवाएकहीहैऔरदोमरीजहैं।इनमेंभीएक80वर्षीयहैऔरदूसरा35वर्षीय।80वर्षीयव्यक्तिअपनीजिंदगीजीचुकाहैऔरउसकेपासअबजिम्मेदारीनहींहै।वहीं,35वर्षकेव्यक्तिकोबच्चोंकोसहारादेनाहै।अगर,इसपरिस्थितिमेंहमेंएकक्रूरनिर्णयलेनाहोतोहमेंनिर्णयलेनापड़ेगा।पीठनेपूछाक्याआप80वर्षीयव्यक्तिकोदवादेंगेयाफिरउसेजिसकेदोबच्चेहैं।

हालांकि,पीठनेयहकहाकिकिसीकीजिंदगीकममहत्वपूर्णनहींहै,लेकिनविशेषज्ञोंकीरायलेकरकड़ेनिर्णयलेनेहीहोंगे।इतनाहीनहींजबतकदवाकीकमीहैतबतककुछमरीजोंकोछोड़नाहोगा।सुनवाईकेदौरानदिल्लीसरकारकेस्थायीअधिवक्ताराहुलमेहरानेकहाकिकेंद्रसरकारकेफार्मूलाकेतहतदवाकाआवंटनकियाजारहाहै।इसपरकेंद्रकेअधिवक्ताकीर्तिमानसिंहनेस्पष्टकियाकिकेंद्रइसमामलेमेंसिर्फकेंद्रकेअस्पतालोंतकसीमितहै,बाकीअस्पतालोंकेबारेमेंसभीफैसलेराज्यसरकारअपनीमर्जीसेकररहीहै।