बिना अच्छे से रिसर्च किए अगर बच्चों को लगाई गई कोरोना वैक्सीन, तो ये आपदा होगी: दिल्ली हाईकोर्ट

नईदिल्ली,17जुलाई:दिल्लीहाईकोर्टनेबच्चोंकोकोरोनावायरसकीवैक्सीनलगानेवालीएकयाचिकापरसुनवाईकरतेहुएकहाकिअगरबिनाउचितरिसर्चकेबच्चोंकोकोविड-19काटीकालगायागयातोयेएकआपदाहोगी।दिल्लीहाईकोर्टनेशुक्रवार(16जुलाई)कोउसयाचिकापरसुनवाईकी,जिसमेंयाचिकाकर्तानेमांगकीथीकिबच्चोंकोवैक्सीनलगानेकेलिएसमयबद्धतरीकेसेशोधहोनीचाहिए।इसयाचिकापरआपत्तिजतातेहुएदिल्लीहाईकोर्टनेकहा,अगरउचितशोधकेबिनाबच्चोंकोकोविड-19केटीकेलगाएजातेहैं,तोयहएकआपदाहोसकतीहै।

दिल्लीहाईकोर्टनेमुख्यन्यायाधीशडीएनपटेलऔरन्यायमूर्तिज्योतिसिंहकीखंडपीठनेकहा,''यहएकआपदाहोगीअगरदेशमेंबच्चोंकोबिनाअच्छेसेरिसर्चकिएऔरउचितशोधकेबिनाहीवैक्सीनलगादीजातीहै।''

रिसर्चकीकोईसमयसीमानहींहोसकतीहै:हाईकोर्ट

कोर्टमेंयाचिकाकर्ताकीओरसेपेशअधिवक्ताकैलाशवासुदेवनेसुनवाईकेदौरानतर्कदियाकिबच्चोंकेलिएकोरोनावैक्सीनकाट्रायलकबखत्महोगा...इसकेलिएएकविशिष्टसमयरेखाहोनीचाहिए।एकटाइमफ्रेमसेटहोनाचाहिए,जिसकेभीतरपरीक्षणखत्मकियाजाए।

वकीलकेइसतर्कपरहाईकोर्टनेचेतावनीदीकिअगरयाचिकाकर्ताइसतरहकीदलीलेंदेताहैतोवहमामलेकाहीनिपटाराकरदेगी।कोर्टनेकहाकिरिसर्चकेलिएकोईसमयसीमानहींहोसकतीहै।

येभीपढ़ें-कोरोना:वैक्सीनकी2डोजलेनेसे95%कमहोजाताहैमौतकाखतरा,दूसरीलहरमेंबचीकईजानें

केंद्रसरकारनेएकहलफनामेमेंशुक्रवार(16जुलाई)कोदिल्लीहाईकोर्टकोबतायाकिफार्मास्युटिकलप्रमुखZydusCadilaकीकोविड-19वैक्सीनभविष्यमें12से18वर्षकीआयुकेबच्चोंकेलिएजल्दहीउपलब्धहोजाएगी।