भ्रष्टाचार को जड़ से उखाड़ने के लिए युवा वर्ग आगे आए : विनय कुमार आलोक

संस,लुधियाना:देशमेंभ्रष्टाचारकीजडें़बहुतदूरदूरतकफैलीहुईहैं।इन्हेंअबखत्मकरनेकेलिएयुवावर्गकोपहलकरनीहोगीऔररणनीतिअख्तियारकरनीहोगीकिभ्रष्टाचारकोकैसेजड़सेखत्मकियाजाए।भ्रष्टाचारएकदीमककीतरहहैयायूंकहेंकियहएकबीमारीहै।जोसमयकेसाथदेशकेलोगोंऔरसंस्थानोंकोखोखलाबनातेजारहीहै।यहएकएककरकेसारीव्यवस्थाकीनींवकोहिलातेजारहीहै।हालांकिइसकेविरोधमेंकईकानूनबनाएजातेहैंलेकिनइसकाकोईजमीनीप्रभावनहींदिखता।येशब्दमनीषीसंतमुनिविनयकुमारआलोकनेइकबालगंजलुधियानातेरापंथभवनमेंकहे।उन्होंनेकहाकिसार्वजनिकजीवनमेंस्वीकृतमूल्योंकेविरुद्धआचरणकोभ्रष्टआचरणसमझाजाताहै।आमजनजीवनमेंइसेआर्थिकअपराधोंसेजोड़ाजाताहै।भ्रष्टाचारमेंमुख्यघूस,चुनावमेंधांधली,हफ्तावसूली,जबरनचंदालेना,अपनेविरोधियोंकोदबानेकेलिएसरकारीमशीनरीकादुरुपयोग,न्यायाधीशोंद्वारागलतयापक्षपातपूर्णनिर्णय,ब्लैकमेलकरना,टैक्सचोरीकरना,झूठीगवाही,झूठामुकदमा,परीक्षामेंनकल,अपनेकार्योकोकरवानेकेलिएनकदराशिदेना,विभिन्नपुरस्कारोंकेलिएचयनितलोगोमेंपक्षपातकरनाआदि।अंतमेंउन्होंनेकहाकिभारतमेंभ्रष्टाचारसेहरव्यक्तिपीडि़तऔरप्रताडि़तहै।आजहमउनचीजोंकेबारेमेंबातनहींकरेंगेकिभ्रष्टाचारकैसेफैलताहैयाइसेकौनबढ़ावादेताहै।बल्किइसेखत्मकैसेकियाजासकताहै।इसबातमेंकोईशकनहींहैकिआजकलभ्रष्टाचारकेखिलाफआंदोलनबंदपड़ाहैजोघोटालेसामनेआतेहैं,वेमीडियामेंपांचदसदिनमेहीठंडेपड़जातेहैं।इसबारभीउसनेदुनियाके180देशोमेंभ्रष्टाचारकाआकलनपेशकियाइसमेचौकानेवालीबातयहहैकिभारतमेंभ्रष्टाचारकीहालातमेंबदलावनजरनहींआया।भ्रष्टाचारकेमामलेमेंदुनियाकेसबसेसाफसुथरेदेशकेरूपमेंबाजीडेनमार्कदेशनेमारी।उसकेसौमेंसे98अंकहैं।उसकेबादअच्छेदेशोंमेंस्वीडनऔरफिनलैंडकेनामहैं।2621वांजन्मकल्याणकउत्सवपरविशेषसभा14को

मनीषीसंतविनयआलोककुमारठाणा-2केसानिध्यमेंभगवानमहावीरस्वामीके2621जन्मकल्याणकउत्सवपरआचार्यतुलसीकेंद्रभवनमेंसुबह9.30से12बजेतकमनायाजारहाहै।समारोहमेंमुनिश्रीअभयकुमारकामंगलउद्बोधनहोगा।समारोहकीअध्यक्षतामहेंद्रपालगुप्ताकरेंगे,जबकिमुख्यमेहमानविधायकअशोकपराशरपप्पीहोंगे।