बच्चियों के यौन उत्पीड़न के दोषी को सात साल की सजा दी गई

मुंबई, मिड-डे। 2016मेंमुंबईपुलिसद्वारा शुरूकिए‘पुलिसदीदी’अभियानकोबुधवार कोबड़ीसफलतामिली।अदालतनेबच्चियों कायौनउत्पीड़नकादोषीठहरातेहुएलांड्री संचालकराकेशकुमारकोसातसालकैदकी सजासुनाईहै।

अदालतनेउसपर50हजारकाजुर्माना भीलगायागयाहै।इसमामलेकीशिकायत जुलाई2016मेंमराठीस्कूलमें‘पुलिस दीदी’अभियानकेतहतबच्चियोंनेकी थी।बच्चोंकेखिलाफयौनउत्पीड़नके मामलोंमेंकमीलानेकेउद्देश्यसेमहाराष्ट्र पुलिसकेडीजीपीदत्तापडसलगिरकरने 2016मेंइसअभियानकीशुरुआतकी थी।उससमयपडसलगिरकरमुंबईपुलिस केकमिश्नरथे।दरअसल,2016में एकमराठीस्कूलमें‘पुलिसदीदी’ अभियानचलायाजारहाथा।इसदौरान बच्चोंकोगुडटचऔरबैडटचकेबारे मेंबतायागया।इसकेबादचौथीक्लासमें पढ़नेवालीपांचबच्चियोंनेस्कूलकी प्रिंसिपलसेराकेशद्वारायौनउत्पीड़न करनेकीबातउजागरकी।इसकेबाद प्रिंसिपलनेपुलिसकोयहजानकारीदी। पुलिसनेडीएननगरपुलिसस्टेशनकेपीछे रहनेवालेराकेशकोगिरफ्तारकरलिया।उस परपॉक्सोसहितअन्यधाराएंलगाईगईं।

बच्चियोंनेअपनेबयानमेंबतायाथाकि जबवहअपनेकपड़ेलेनेउसकीदुकान परजातीथीं,तोवहउनकेसाथछेड़छाड़ करताथा।राकेशबच्चियोंकेसाथएकसाल तकगलतहरकतेंकरतारहा।लेकिनधमकीदेने केचलतेबच्चियोंनेपरिजनोंकोभीकुछनहीं बताया।इससेलगातारउसकीहिम्मतबढ़ती चलीगई।