बांदा के तिहरा हत्याकांड में भाई बोला-मेरी भी जान को खतरा, हत्यारों को मिले फांसी

जागरणसंवाददाता,बांदा:मेरीभीजानकोखतराहै।अबमैंबांदामेंरहकरक्याकरूंगा?दुनियाहीलुटगईहै।अपनोंनेहीखूनकीनदीबहादी,कभीभीवोलोगमेरीभीजानलेसकतेहैं।यहकहनाहैतिहरेहत्याकांडकेबादपरिवारमेंअकेलेबचेदिवंगतसिपाहीकेभाईसौरभका।

दैनिकजागरणसेबातचीतमेंकानपुरमेंरिश्तेदारकेयहांशरणलेनेवालेसौरभनेबतायाकिउसकीतबीयतखराबहै।घटनाकेदौरानभाई(दिवंगतअभिजीत)नेफोनकियाथा।बतायाथाकि20-22लोगोंनेहमलाकरदियाहै।कसाईमोहल्लेकेएकयुवककानामबतातेहुएकहाकिफोनकरसोमचंद्रनेउसकोबुलायाहै।सोमचंद्रकेघरमेंरहनेवालाएकलड़कापूरेमोहल्लेमेंदहशतकायमरखेथा,वहउसकागुर्गाहैऔरदबंगईकरतारहताथा।घटनाकेदौरानवहभीशामिलथा।दोनोंकीपुलिसमेंइतनीपैठहैकिघटनाकेबादजबपुलिसआईतोवहयुवकउनकेपासहीखड़ाथा।एकवीडियोक्लिपमेंनजरभीआयाहै।खाकीकोमालापहनानेवालोंनेभीनहींकीमदद

हत्यारोंकोफांसीदेनेकीमांगकरतेहुएसौरभनेकहाकिकोरोनासंकटकालमेंउसकेभाईनेभीड्यूटीकीथी।उससमयलोगपुलिसवालोंकोफूलमालापहनारहेथे।जबउसकेभाईकोमाराजारहाथातोकिसीनेमददनहींकी।अबतोउसकासबसेभरोसाहीखत्महोगयाहै।देखनाहैकिन्यायमिलताहैयानहीं।