बाल तस्करी: जालंधर में तंग कमरे में बंद किए जाते थे बच्चे, काम करने से मना करने पर दी जाती थी मानसिक यातनाएं

जालंधर,जेएनएन।बीतेदिनोंकंगनिवालमेंपकड़ेगएबालमजदूरोंकेमामलेमेंफरारचलरहेआरोपितप्रवेशसादाकीतलाशमेंपुलिसनेकईजगहपरछापेमारीकी,लेकिनअभीतकउसकाकुछपतानहींचला।जानकारीकेमुताबिकपुलिसजांचमेंसामनेआयाहैकिप्रवेशसादाजिनबच्चोंकोलाताथा,उन्हेंकईअन्यठेकेदारोंकेहाथोंबेचदेताथा।बच्चोंकेसाथमारपीटभीकीजातीथी।जोबच्चेकामकरनेसेमनाकरतेथे।उनकोबुरीतरहसेपीटाजाताथाऔरएकजगहसेदूसरीजगहभेजकरमानसिकयातनादीजातीथी।जांचमेंखुलासाहुआहैकिजिनबच्चोंकोबरामदकियाहैउनकेअन्यसाथियोंकोदूसरीजगहपरभेजागयाहैं।जोबच्चेज्यादाबोलतेथे,उनकोकमरोंमेंबंदकरकेमानसिकयातनादीजातीथी।

तंगकमरेमेंएकसाथबिठाएजातेथेकईबच्चे

मानसिकयातनासेतंगआकरबच्चेकामकरनेकोराजीहोजातेथेऔरफिरउनकोअलग-अलगजगहपरकामपरलगायाजाताथा।पुलिसनेएफआइआरमेंबच्चोंकीबरामदगीएकखेतमेंदिखाईहैलेकिनउनकेसाथीकहांबंदहै,इसबारेमेंअभीतकपुलिसनेकुछभीखुलासानहींकियाहै।कईबच्चोंनेपुलिसकोबतायाथाकिउनकोतंगकमरोंमेंएकसाथबिठादियाजाताथा।बच्चोंनेपुलिसकोबतायाथाकिसोतेसमयउनकीबुरीहालतहोतीथीऔरसीधेलेटनाभीमुश्किलहोताथा।कमरेमेंइतनेबच्चेहोतेथेकिसभीएकसाथनहींलेटसकतेथे।

जालंधरमेंदसहजारज्यादाहैबालमजदूर

कुछसमयपहलेहीपुलिसनेलेदरकांप्लेक्सकीएकइंडस्ट्रीसे37बच्चेऔरएकइंडस्ट्रीसेदसबच्चेछुड़ाएथे।आरोपितफैक्ट्रीमालिकोंवठेकेदारोंकेखिलाफकेसदर्जकरलियागयाथा।बीतेपांचसालोंमेंएकहजारकेकरीबबालमजदूरछुड़वाएगएहैंलेकिनअभीभीजालंधरमें10,000सेज्यादाबालमजदूरकामकररहेहैं।जिलाप्रशासनकईबारदावेकरचुकाहैकिबालमजदूरीकरवानेवालोंकेखिलाफकार्रवाईकीजाएगीऔरमुहिमचलाईजाएगी।जिलाप्रशासनकेनाकतलेहीयहकामहोरहाहैऔरकार्रवाईकेनामपरकभीकभारखानापूर्तिहोजातीहै।

गतिविधियोंकीरिपोर्टभेजेंगेदिल्ली

बचपनबचाओआंदोलनकेदिनेशकुमारनेबतायाकिउनकेद्वाराकीगईगतिविधियोंकीरिपोर्टसंस्थाकेदिल्लीस्थितकार्यालयमेंदेदेंगे।इसकेबादवहांसेहोनेवालेआदेशोंकेमुताबिकअगलीकार्रवाईपरकामकियाजाएगा।इसकेसाथहीउन्होंनेपूरेमामलेकीगहराईसेजांचकरकेआरोपितोंकेखिलाफकार्रवाईकीमांगरखी।

बालमजदूरीकरनाअपराधहै।जहांकहींभीसूचनामिलतीहैपुलिसतुरंतवहांपरकार्रवाईकरतीहै।बालश्रमविभागऔरनिजीसंस्थाएंजबभीउनकोसूचनादेतीहैंपुलिसबालमजदूरीकरवानेवालोंकेखिलाफकड़ीकार्रवाईकरतीहै।आगेभीपुलिसकीयहमुहिमजारीरहेगी।

डीसीपीगुरमीतसिंह