अधिकारियों व कर्मचारियों ने किया योग प्रोटोकोल अभ्यास

जागरणसंवाददाता,सिरसा:

योगप्रशिक्षकचंद्रपालयोगीनेकहाकियोगहमारीप्राचीनविद्याहै,हमसबकोस्वस्थजीवनजीनेकेलिएइसेअपनानाचाहिए।वर्तमानमेंपूरेविश्वनेयोगकीमहत्ताकोस्वीकारकियाहै।वहशनिवारकोशहीदभगतसिंहस्टेडियममेंअंतरराष्ट्रीययोगदिवसकेउपलक्ष्यमेंआयोजितअधिकारियोंवकर्मचारियोंकेयोगप्रोटोकोलअभ्यासशिविरकेतीसरेसंबोधितकररहेथे।शिविरमेंसरकारीविभागोंकेअधिकारी,कर्मचारीवआमजनभागलेरहेहैं।

योगीनेकहाकियोगसेशरीरवमनसंतुलितहोतेहैं।यहयोगविद्यामधुमेह,श्वसनसंबंधीविकार,उच्चरक्तचापऔरजीवनशैलीसेसंबंधीकईप्रकारकेविकारोंकेप्रबंधमेंलाभकरहै।योगसमृद्धऔरपरिपूर्णजीवनकीउन्नतिकामार्गहै।उन्होंनेयोगकरवातेसमयप्रत्येकक्रियाकेबारेमेंविस्तारसेजानकारीदीवयोगसेहोनेवालेलाभकेबारेमेंभीबताया।जिलाआर्युवेदिकअधिकारीडा.गिरीशचौधरीनेबतायाकि21जूनकोजिलावउपमंडलस्तरपरयोगकार्यक्रमआयोजितकिएजाएंगे।जिलास्तरीयकार्यक्रमशहीदभगतसिंहस्टेडियममेंजिलास्तरीयकार्यक्रमकाआयोजनकियाजाएगा।20जूनकोप्रात:7से8बजेतकफाइनलरिहर्सलकाआयोजनकियाजाएगा।