आरटीई के तहत दाखिले के लिए हिसार में फिर से निजी स्कूल करने लगे आनाकानी, अभिभावक परेशान

जागरणसंवाददाता,हिसार।हिसारजिलेमेंआरटीईराइटटूएजुकेशनकेतहतजिलाशिक्षाअधिकारीकेआदेशानुसारदाखिलेकरनेपरफिरसेनिजीस्कूलआनाकानीकरनेलगेहैं।इससेबच्चोंवअभिभावकोंकीपरेशानीबढ़गईहै।सोमवारकोशिक्षाविभागकेपासतीनसेचारअभिभावकोंकीशिकायतआईहै।इसकोलेकरशिक्षाविभागीयअधिकारियोंनेनिजीस्कूलसंचालकोंकोडांटलगाईहै।इसकेबादस्कूलोंनेदाखिलेकीहांभीभरदीहै।एकस्कूलकाकोईजवाबनहींमिला।

इसबारेमेंशिक्षाविभागनेसभीस्कूलोंकोपत्रभीजारीकियाहै।उसमेंयहजानकारीमांगीहैकिकिसस्कूलनेकितनेदाखिलेदिएऔरकितनेआवेदनआए।इसेलेकरसोमवारशामतकशिक्षाविभागनेसभीस्कूलोंनेडाटामांगाहै।उसकेबादहीपताचलेगाकिआरटीईनियमकीकितनीपालनाहुईहै।सरकारद्वारा134-एनियमकेबजायआरटीईकोलागूकरनाहै।इसमेंपहलीकक्षामेंदाखिलहोनाहै।इसकेतहतहरस्कूलमें25प्रतिशतसीटआरक्षितहोंगी।अब134-एकोयोजनाबनादियागयाहै।

पत्रकेबिनापालनकरवानाहुआमुश्किल

शिक्षाविभागकेपासआरटीईकेदाखिलेकीअंतिमतिथिबढ़ानेकोलेकरकोईलिखितपत्रनहींआयाहै।हालांकि,स्कूलोंमेंदाखिलेचलरहेहैं।मगरपत्रकेबिनाशिक्षाविभागकिसीस्कूलपरदबावनहींबनासकता।ऐसेमेंपालनाभीमुश्किलहै।अगरकोईपत्रआताहैतोसख्तीबरतनेमेंआसानीहोगी।

आरटीईकेतहतउन्हींबच्चोंकोदाखिलामिलेगा,जिनकाआवासस्‍कूलकेएककिलोमीटरदायरेमेंआताहै।यदिएककिलोमीटरदायरेमेंमान्यताप्राप्तनिजीस्कूलहै,उसीमेंआवेदनमान्यहोगा।अधिकतरस्कूलऐसेहैं,जोदूरदराजएरियाकेहैं।वहांपरकोईदाखिलेनहींहोंगे।यहभीगलेकीफांसबनगयाहै,क्योंकिकाफीबच्चेअच्छीपढ़ाईसेवंचितहै।

---तीन-चारनिजीस्कूलोंकीशिकायतआईथी,जिन्होंनेआरटीईकेदाखिलेकरनेसेमनादियाथा।उनकोमेलकरदीहै।शामतकडिटेलमांगीहै।

विजेंद्रसिंह,बीईओ।