आपसी समझौते के आधार पर सम्मान की जिदगी जिएं लोग : जिला जज

सुपौल।राष्ट्रीयविधिकसेवाप्राधिकारनईदिल्लीकेनिर्देशपरशनिवारकोस्थानीयव्यवहारन्यायालयपरिसरमेंजिलाविधिकसेवाप्राधिकारकेबैनरतलेएकदिवसीयराष्ट्रीयलोकअदालतकाशुभारंभजिलाएवंसत्रन्यायाधीशसहजिलाविधिकसेवाप्राधिकारकेअध्यक्षसुरेंद्रप्रसादपांडे,जिलाधिकारीसहप्राधिकारकेउपाध्यक्षमहेंद्रकुमार,पुलिसअधीक्षकमृत्युंजयचौधरीसमेतअन्यन्यायिकपदाधिकारियोंनेसंयुक्तरूपसेदीपप्रज्ज्वलितकरकिया।उद्घाटनपश्चातजिलाएवंसत्रन्यायाधीशनेकहाकिआयोजितलोकअदालतकामकसदछोटे-छोटेवादोंकाआपसीसमझौताकेआधारपरनिपटाराकरलोगोंकोसमाजमेंसम्मानकीजिदगीजीनेकाहै।ऐसेवादोंमेंलोगोंकाधनकेसाथ-साथसमयऔरऊर्जाकीभीखपतहोतीहै।अगरवेसकारात्मकसोचकेसाथऐसेअवसरकालाभलेलेतेहैंतोफिरयहसमय,धनऔरऊर्जाकाउपयोगअपनेपरिवारकेविकासपरलगाकरआगेबढ़सकतेहैं।कहाकिआजजिसअनुपातमेंविवादबढ़रहाहैउसअनुपातमेंअदालतछोटापड़रहाहै।जिसकेकारणनियमितअदालतोंमेंदिनबदिनमुकदमोंकीसंख्याबढ़तीहीजारहीहै।जिसकेकारणलोगोंकोसमयसेन्यायनहींमिलपाताहै।यहमौकान्यायालयकीलंबीप्रक्रियाऔरखर्चसेबचनेकाउपायहै।कहाकिइसकोर्टमेंनाकोईपक्षकारहोताहैऔरनविपक्षी।बल्किअपनाफैसलाआपसीसमझौताकेआधारपरसुनताहैऔरकोर्टकीसिर्फमुहरलगजातीहै।जिलाधिकारीनेकहाकिआयोजितलोकअदालतकामुख्यउद्देश्यलंबितप्रक्रियासेनिजातपानाहै।खासकरवैसेलोगजोन्यायिकखर्चवहनकरनेमेंअसमर्थहोतेहैंवेइसमंचकेमाध्यमसेबिनाकिसीखर्चकेअल्पसमयमेंझंझटसेछुटकारापाकरसम्मानकीजिदगीजीसकतेहैं।कहाकिपरिवादीकीभीमंशाहोनीचाहिएकिअधिकसेअधिकवादोंकानिपटाराकरलोगोंकोसुकूनकीजिदगीजीनेकाअवसरदें।पुलिसअधीक्षकनेकहाआजजिसरफ्तारसेजनसंख्यामेंवृद्धिहोरहीहैउसअनुपातमेंविवादभीबढ़रहाहै।सुपौलजैसेछोटेजिलेमेंहरमाहछोटे-बड़ेमामलेकोमिलाकरकरीबसाढ़ेचारसौमामलेदर्जहोतेहैं।इसअदालतकेमाध्यमसेलोगनिश्शुल्कअपने-अपनेवादोंकाफैसलालेसकतेहैं।यहांकेफैसलेकोकिसीभीअदालतमेंचुनौतीनहींदीजासकतीहै।यदिलोगोंमेंइसपरंपराकाविकासहोजाएतोफिरअदालतपरसेमुकदमोंकाबोझकमहोनेकेसाथ-साथलंबितमामलोंकाफैसलाभीजल्दहोसकताहै।आयोजितराष्ट्रीयलोकअदालतमेंआपराधिक,बैंकऋणवसूली,मोटरदुर्घटना,दावान्यायिक,वाद,बिजली,टेलीफोनसंबंधितवाद,भूमिअधिग्रहण,राजस्व,दीवानीआदिसेसंबंधितवादोंकेआपसीसमझौताकेआधारपरनिपटाराकीव्यवस्थाकीगईथी।जिलाविधिकसेवाप्राधिकारकेसचिवप्रदीपकुमारचौधरीकेसंचालनवालेइससमारोहमेंएडीजेद्वितीयअशोककुमारसिंह,एडीजेचतुर्थरविरंजनमिश्रा,सीजेएमनवीनठाकुर,सबजजप्रथमकमलेशचंद्रमिश्रा,सप्तमपाठकआलोककौशिक,एसडीजेएमप्रभातकुमार,जेएमप्रथमविवेककुमारमिश्रसमेतअन्यकईन्यायिकपदाधिकारी,बैंककर्मी,अधिवक्तासमेतअन्यलोगउपस्थितथे।