5 महीने बाद 9 से 12वीं तक के स्टूडेंट्स स्कूल पहुंचे, बस नहीं मिली तो पैरेंट्स ने छोड़ा; थर्मल स्क्रीनिंग हुई, देखें तस्वीरें

आज5महीनेबादफिरसेउत्तरप्रदेशकेस्कूलगुलजारहोगए।50%कीक्षमताकेसाथ9-12वींतककेस्टूडेंट्सस्कूलपहुंचे।लखनऊमेंटीचर्सनेस्टूडेंट्सकाचंदनलगाकरस्वागतकिया।आगरामेंबच्चोंकेलिएतालियांबजाईगई।एंट्रीगेटपरथर्मलस्क्रीनिंगहुई।स्टूडेंट्सकाहाथसैनिटाइजकरायागया।सभीकोमास्कपहननेकेलिएपहलेहीआदेशदेदियागयाथा।कोविडकेचलतेअभीस्कूलसंचालकोंनेबससर्विसनहींशुरूकीहै।इसलिएस्टूडेंट्सअपनेपैरेंट्सयाफिरखुदसाइकिलचलाकरस्कूलपहुंचे।लंबीछुट्‌टीकेबादपहलेदिनस्कूलपहुंचेस्टूडेंट्सकाफीखुशनजरआए।

दोपालियोंमेंहोगीपढ़ाई

कईस्कूलोंमेंदो-दोपालियोंमेंपढ़ाईहोगी,जबकिकुछस्कूलोंनेइससेइंकारकरदियाहै।पहलीपालीसुबह8से12औरदूसरीपाली12:30से4:30बजेतकचलेगी।वहीं,6-8वींतककेस्टूडेंट्सकेलिएएकसितंबरसेस्कूलखोलनेकाप्लानहै।इसकेलिएभीप्रदेशसरकारनेआदेशजारीकरदियाहै।इससेपहलेएकमार्चसेभीस्कूलखोलेगएथे,हालांकिकोविड-19कीदूसरीलहरकेचलते18मार्चकोहीसारेस्कूलबंदकरनेपड़गएथे।अबतीसरीलहरकीआशंकाकेबीचफिरसेस्कूलखोलेजारहेहैं।

स्टूडेंट्सनेक्याकहा?

लखनऊकेजुबलीइंटरकॉलेजमें9Aकेस्टूडेंटश्लोकविश्वकर्मानेस्कूलखुलनेपरखुशीजाहिरकी।कहा,माहौलमेंथोड़ाबदलावहुआहै।घरमेपढ़ाईजरुरहोरहीथीपरकईऐसीबातेहैंजोऑनलाइनक्लासमेंनहींहोसकतीइसलिएऑफलाइनक्लासजरुरीहै।घरसेबाहरनिकलनेकाअच्छाअहसासभीहै।9Bकेआलोकपाठककहतेहैंकिस्कूलकीपढ़ाईकेअलगफायदेहैं।स्कूलआकरअच्छालगरहाहै।कोरोनाकोलेकरमनमेकुछबातेंजरुरहैपरस्कूलखोलनाअबजरूरीहोगयाथा।

कोविड-19प्रोटोकॉलकाख्यालरखनाहोगा

क्याकहतेहैंटीचर्स?

उत्तरप्रदेशमाध्यमिकशिक्षकसंघकेप्रवक्ताडॉ.आरपीमिश्राकेअनुसारदोशिफ्टमेंस्टूडेंट्सकोपढ़ानेकीगाइडलाइनशासनकीतरफसेजारीहुईहै।बच्चेतो4घंटेपढ़नेकेबादचलेजाएंगेपरटीचर्सकेलिएसुबह8बजेसेशाम4:30बजेतकक्लासलेनीपड़ेगी।यहबड़ीसमस्याहै।हमछात्रोंकेभविष्यकोध्यानमेंरखकरहीऑफलाइनपढ़ाईकेलिएराजीहुएहैं।इसनिर्णयसेशिक्षकोंमेंभीसंक्रमणफैलनेकाडरहै।

क्याकहतेहैंजिम्मेदार?

लखनऊजिलाविद्यालयनिरीक्षकमुकेशकुमारसिंहनेबतायाकिकोविडगाइडलाइंसकागंभीरतासेपालनकरनेकेलिएस्कूलोंकोपहलेसेहीबतायाजाचुकाहै।किसीभीस्कूलमेंइसकोलेकरकिसीभीस्तरकीलापरवाहीसामनेपरएक्शनतयहै।