206 करोड़ की परियोजना का दस फीसद कार्य भी नहीं हुआ पूरा

जौनपुर:आदिगंगागोमतीकोउसकेमूलस्वरूपमेंलानेकेलिएगंगाकीतर्जपरइसेसाफकरनेकीयोजनाएकवर्षपूर्वतैयारतोहुई,लेकिनमौजूदासमयमेंदसफीसदकार्यभीपूर्णनहींहोसकाहै।गोमतीमेंनगरकेनालोंकापानीजानेसेरोकनेकेलिएपचहटियामेंसीवेजट्रीटमेंटप्लांट(सीटीपी)बनायाजारहाहै।नमामिगंगेएकीकृतगंगासंरक्षणमिशनकेतहतइसपूरीपरियोजनापर206करोड़रुपयेखर्चकिएजानेहैं।सरकारकीइसमहत्वपूर्णपरियोजनाकोवर्ष2021तकपूराकरनाहै,लेकिननिर्माणकोलेकरबरतीजारहीलापरवाहीसेअधिकारियोंकीकार्यशैलीपरसवालखड़ेहोरहेहैं।

वर्ष2019सेशुरूहुआनिर्माण

भारीजद्दोजहदकेबीचपरियोजनाकानिर्माणवर्ष2019मेंशुरूकियागया।कार्यशुरूहोनेकेसाथहीइसकीडेटलाइनभीतयकरदीगई।इसेवर्ष2021तकहरहालमेंपूर्णहोजानाथा,लेकिनमौजूदासमयमेंनिर्माणकीरफ्तारबेहदधीमीहै।अधिकारियोंकीउदासीनताकीवजहसेनिर्माणपिछड़तागया।

अबअतिक्रमणनेबढ़ाईमुश्किलें

सीटीपीकानिर्माणपांचहेक्टेयरमेंहोनाहै।इसकेचारोंतरफदीवारनबननेकीवजहसेआस-पासकेलोगोंनेअतिक्रमणशुरूकरदियाहै।जलनिगमकेअधिकारियोंवस्थानीयप्रशासनकेबीचसामंजस्यकेअभावमेंजमीनसंकुचितहोतीजारहीहै।साथहीचौतरफाअतिक्रमणनिर्माणकोभीप्रभावितकररहाहै।इतनासबकुछहोनेकेबादभीकिसीकाभीइसओरध्याननहींहै।

शहरमें14हैबड़ेनालोंकीसंख्या

जौनपुरशहरमें14बड़ेनालेहैं।नालोंकाप्रदूषितपानीसीधेगोमतीमेंसमाहितहोनेकीवजहसेप्रदूषणकास्तरलगातारबढ़रहाहै।ऐसेमेंअस्तित्वसेजूझरहीगोमतीकोपुनर्जीवितकरनेकोमेगाप्रोजेक्टतैयारकियागयाहै।नालोंकापानीगोमतीमेंजानेकीबजायइंटेकवेलमेंजाएगा,जहांसेइसेसीवेजट्रीटमेंटप्लांटमेंडालकरगोमतीमेंजानेयोग्यबनायाजाएगा।

यहांबनाएजाएंगेइंटेकवेल

बलुआघाटमेंआठमीटरचौड़ा,हनुमानघाटमेंआठमीटरचौड़ावशेखपुरमेंछहमीटरचौड़ाइंटेकवेलबनायाजाएगा।बलुआघाटवहनुमानघाटपरपाइपकोउसपारकरनेकेलिएपुलभीबनायाजाएगा।

अभीहालहीमेंचार्जसंभालाहै।निर्माणकोलेकरजोभीखामियांहैंउसेदुरुस्तकरनेकाप्रयासकियाजारहाहै।निर्माणमेंगुणवत्तासेकिसीप्रकारकासमझौतानहींकियाजाएगा।संबंधितलोगोंसेतालमेलबैठाकरनिर्माणकोगतिदीजाएगी।पूरीकोशिशहैसरकारकीइसमहत्वाकांक्षीपरियोजनाकोजल्दसेजल्दपूराकियाजाय।

-संजयकुमारगुप्ता,अधिशासीअभियंता,जलनिगम।