20 वर्षो से गो सेवा कर रहे आरपीएफ जवान धर्मेद्र

दीपकसिंहधामी,टनकपुर:

अगरजुनूनवलगनहोतोहरकार्यसंभवहै।गोसेवाकेनामपरकईसंगठनखानापूर्तिकररहेहैं।जबअसलमेंजरूरतहोतीहैतबवहीसंगठनकेलोगपीछेहटजातेहैं,मगरइनसबसेअलगवजुदाहैआरपीएफमेंतैनातमेजरधर्मेद्र।सड़कहोयागली।कहींभीअगरधर्मेद्रकोमवेशीबीमारयाचोटिलदिखाईदेताहैतोउनकादिलकराहउठताहै।तबवहअपनीदूसरीजिम्मेदारीमेंदिखाईदेतेहैं।वहउसमवेशीकाअपनेखर्चपरप्राथमिकउपचारकरतेहैंऔरकरवातेहैं।जिसकेबादउसेगोसेवाकेंद्रमेंछोड़देतेहैं।यहसिलसिलावहआजकलसेनहींबल्कि20वर्षोसेकररहेहैं।धमेंद्रकेइसकार्यसेक्षेत्रकेलोगजहांबेहदखुशहैंवहींधमेंद्रकेइसकार्यकेलिएउन्हेंकईमंचोंपरसम्मानितभीकियाजाचुकाहै।धमेंद्रकरीब300मवेशियोंकीसेवाकरचुकेहैं।यहींनहींधर्मेद्रअभीतक31कन्याओंकाकन्यादानकरअहमभूमिकानिभाचुकेहै।उन्होंनेबतायाकिउनकेइसकार्यमेंउनकापूरापरिवारभीबराबरकासहयोगदेतारहाहै।उनकाएकपुत्रएमबीबीएसकरचुकाहैवपुत्रीफार्मासिस्टसेपीएचडीकररहीहै।==========धर्मेंद्रदोवर्षोसेटनकपुरमेंहैतैनातटनकपुर:धर्मेद्रविगतदोवर्षोसेटनकपुरमेंतैनातहै।अभीतकवहटनकपुरक्षेत्रमें300सेअधिकजानवरोंकाउपचारकरचुकेहै।उन्हेंजहांभीघायलअवस्थामेंजानवरमिलतेहैतोउनकाप्राथमिकउपचारकेबादपुरानीतहसीलमेंस्थापितगोशालाकेन्द्रमेंउनजानवरोंकोलेआतेहै।उन्होंनेकहाकिगंभीररूपसेघायलगायोंकाइलाजनहींहोपाताउन्हेंवहअपनेस्तरसेबरेलीवहरियाणातकलेजाचुकेहै।======परिवारकेलोगभीकरतेहैसहयोगगोसेवाकेलिएधर्मेंद्रकेपरिवारकेलोगभीउन्हेंपूरासहयोगदेतेहै।बकायदाउनकीपत्‍‌नीभीउनकेसाथबढ़-चढ़करकार्यकरतीहै।इसकेअलावासैलानीगोठस्थितकालाझालामेंबनेगोसेवासदनमेंभीजाकरअपनापूरासहयोगकरतेरहतेहै।=========मानसिकरूपसेकमजोरलोगोंकीमददकोभीहमेशारहतेहैआगेधर्मेंद्रटनकपुरक्षेत्रमेंआनेवालेमानसिकरूपसेकमजोरवविक्षिप्तलोगोंकीमददकेलिएभीहमेशाआगेआतेरहेहै।वहइनलोगोंकीभीमददकरतेहै।विक्षिप्तलोगोंकीघायलहोनेपरउन्हेंप्राथमिकउपचारभीदेतेहै।

लोकसभाचुनावऔरक्रिकेटसेसंबंधितअपडेटपानेकेलिएडाउनलोडकरेंजागरणएप